Friday, March 8, 2013

CBSE Class 9 - Hindi - अपठित काव्यांश -2

अपठित काव्यांश

(CBSE २०१२-२०१३) दिए गए काव्यांश  को पढकर पूछे गए प्रश्नों के सही विकल्प को चुनिए -

ओ वसुधा के रहने वालों ! रहो सर्वदा प्यार से ||
नाम अलग है देश-देश के, पर वसुंधरा एक है |
फल - फूलों के रूप अलग पर भूमि उर्वरा एक है |
धरा बाँट कर हृदय न बाँटो, दू रहो संहार से ||
कभी न सोचो तुम अनाथ, एकाकी या निष्प्राण रे |
बूँद-बूँद करती है मिलकर, सागर का निर्माण रे |
लहर - लहर देती सन्देश यह, दूर क्षितिज के पर से ||
धर्म वही है जो करता है मानव का उद्धार रे |
धर्म नहीं वह जो की डाल दे, दिल में एक दरार रे |
करो न दूषित आँगन मन का, नफरत की दीवार से ||

प्र१: धरती पुकार कर क्या कह रही है ?

(क) सबके बारे में जानो |
(ख) मेरी बात सुन लिया करो
(ग) सबकी खबर जान लिया करो
(घ) सदा रहो प्यार से

प्र२: धरती को बाँटने के बाद अब मनुष्य किसे बाँटने का प्रयास कर रहा है ?


(क) घरों को
(ख) शहरों को
(ग) दिलों को
(घ) खेत - खलिहानों को


प्र३: सच्चा धर्म कौन सा है?

(क) जो दिल में दरार डाल दे |
(ख) जो मन के आँगन को दूषित कर दे |
(ग) जो मानव का उद्धार करता हो |
(घ) जो नफरत की दीवार खड़ी कर दे |


प्र४ : कौन सा कथन एकता प्रदर्शित करता है?

(क) सब देशों के नाम अलग हैं |
(ख) सब फसलें अलग-अलग तरह की है |
(ग) फल - फूलों के रूप अलग हैं |
(घ) सब कुछ अलग होने पर भी धरती की उर्वरा एक है |






प्र५: कवि ने किससे दूर रहने का सन्देश दिया है?
(क) मनुष्य से
(ख) संहार से
(ग) धरती से
(घ) प्यार से


उत्तर:
१: (घ) सदा रहो प्यार से

२: (ग) दिलों को
३: (ग) जो मानव का उद्धार करता हो |
४: (घ) सब कुछ अलग होने पर भी धरती की उर्वरा एक है |
५: (ख) संहार से

No comments:

Post a Comment